स्मार्ट सिटी

अजमेर – स्मार्ट सिटी के तहत 850 करोड़ के कार्यादेश दिसंबर माह तक हो जाएंगे जारी

स्मार्ट सिटी के सीईओ ने किया विभिन्न प्रोजेक्ट्स का निरीक्षण, कार्यों में गति लाने के लिए नोडल अधिकारियों को सौंपी जिम्मेदारी ।

अजमेर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत दिसंबर माह में 850 करोड़ के कार्यादेश का लक्ष्य तय किया गया है। जिला कलक्टर एवं अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रकाश राजपुरोहित ने स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट्स में और गति लाने के उद्देश्य से नगर निगम आयुक्त एवं अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. खुशाल यादव, नगर निगम उपायुक्त ( प्रशासन ) देविका तोमर, अतिरिक्त जिला कलक्टर ( शहर ) विशाल दवे और एसडीएम अवधेश मीणा को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है।

जिला कलक्टर एवं अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी  प्रकाश राजपुरोहित ने बुधवार का स्मार्ट सिटी के विभिन्न प्रोजेक्ट्स का निरीक्षण किया। गांधी भवन पर उन्होंने एलीवेटेड रोड के कार्यों को देखा और मौके पर ही आरएसआरडीसी के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी पीयर कैप बनाने के लिए लक्ष्य निर्धारित किया जाए। ताकि प्रोजेक्ट को तय समय सीमा में पूरा किया जा सके। पटेल मैदान में चल रहे स्पोर्ट्स कॉम्प्लैक्स के कार्यों को देखा। उन्होंने स्वीमिंग पूल का डिजाइन फाइनल करने के निर्देश दिए साथ ही स्टेडियम के सभी फ्रंट पर कार्य आरंभ करने के लिए निर्देशित किया। जेएलएन अस्पताल के मेडिसन ब्लॉक के निरीक्षण के दौरान सीईओ  राजपुरोहित ने नये आइसोलेशन वार्ड बनाने के लिए अधिकारियों को स्थान के चयन करने एवं मेडिकल कॉलेज प्राचार्य से चर्चा करने हेतु निर्देशित किया उन्होंने आनासागर के चारों और चल रहे प्रोजेक्ट जैसे लेकफ्रंट डवलपमेंट, बांडी नदी् आनासागर पाथ वे आदि का निरीक्षण किया। हरिभाऊ उपाध्याय नगर विस्तार में बन रहे गांधी स्मृति उद्यान का कार्य 2 अक्टूबर तक पूरा करने के निर्देश दिए।

नोडल अधिकारी भी करेंगे मॉनीटरिंग

निरीक्षण के पश्चात कलेक्ट्रेट के सभागार में स्मार्ट सिटी अधिकारियों एवं संबंधित विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता करते हुए स्मार्ट सिटी के सीईओ श्री प्रकाश राजपुरोहित ने कामकाज की समीक्षा की। अजमेर स्मार्ट सिटी की कुल प्रोजेक्ट राशि 930 करोड़ रूपए है। उल्लेखनीय है कि अब तक 828 करोड़ के कार्यादेश जारी किए जा चुके हैं। दिसंबर माह तक 850 करोड़ के प्रोजेक्ट्स के कार्यादेश के लक्ष्य निर्धारित किए हैं। ऐसे में शेष 80 करोड़ की निविदा प्रक्रियाधीन है। जिसके कार्यादेश जनवरी 2021 में जारी कर दिए जाएंगे। प्रमुख रूप से आनासागर एस्कैप चैनल के 17.5 करोड़ एवं सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालय में 1.3 करोड़ की लागत से इन्डोर स्पोट्स हॉल सहित अन्य प्रोजेक्ट पर चर्चा की गई, जिनके कार्यादेश जारी किए जाने है। इसी प्रकार कार्य में गति लाने के उद्देश्य से उन्होंने चार नोडल अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी हैं। नियुक्त किए गए नोडल अधिकारी सप्ताह में एक बार प्रोजेक्ट का निरीक्षण करेंगे और कार्य में गति लाने के लिए मार्ग में आ रही बाधाओं को दूर करेंगे। बैठक के सीईओ  राजपुरोहित ने आरएसआरडीसी अधिकारियों को निर्देश दिए कि अजमेर डेयरी आरओबी और गुलाब बाडी आरओरबी को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। पीएचईडी द्वारा सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालय में पंप हाउस और सीडब्ल्यूआर का कार्य आरंभ कर दिया गया है। अजमेर स्मार्ट सिटी के तहत भाारत सरकार के साइंस विभाग द्वारा बनने वाले रीजनल साइंस सेंटर पर चर्चा की गई। सीईओ ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि साइंस सेंटर निर्माण के दौरान विभाग के संपर्क में रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!