अजमेर – आनासागर एसटीपी पर 350 किलोवाट के सोलर प्लांट से बिजली उत्पादन शुरू

14 सौ से 15 सौ यूनिट बिजली का प्रतिदिन होगा उत्पादन, नगर निगम को होगी पांच लाख प्रति माह की बचत, शहरवासी तय करेंगे तीन प्रोजेक्ट्स के नामकरण

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत आनासागर एसटीपी पर लगाए गए 350 किलो वाट क्षमता के सोलर प्लांट से बिजली उत्पादन आरंभ हो गया है। प्रतिदिन 14 सौ से 15 सौ यूनिट उत्पादन होगा। सोलर प्लांट से बिजली उत्पादन होने से नगर निगम को प्रतिमाह लगभग 5 लाख रूपए की बचत होगी।

बुधवार को कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट्स साप्ताहित बैठक में अजमेर स्मार्ट सिटी के मुख्य अभियंता अनिल विजयवर्गीय ने बताया कि ग्रीन सिटी कम्पोनेंट के तहत आनासागर सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट पर 350 किलो वाट क्षमता का सोलर प्लांट लगाया गया है। सोलर प्लांट से रिन्यूवल एनर्जी का उत्पादन आरंभ हो गया है। सोलर प्लांट का निर्माण एसटीपी की खाली भूमि पर किया गया है। एसटीपी की खाली भूमि के चारों और चार दीवारी होने की वजह से सुरक्षित है।

उल्लेखनीय है कि एसटीपी की मासिक खपत लगभग 87 हजार यूनिट प्रति माह है। इस प्लांट की कुल लागत 2.08 करोड़ रूपये है। सोलर प्लांट से बिजली उत्पादन होने से लगभग पांच लाख रुपये की बचत होगी। बैठक में जिला कलक्टर एवं अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रकाश राजपुरोहित ने एलीवेटेड रोड के कार्यों की समीक्षा करते हुए आरएसआरडीसी अधिकारियों को गति बढ़ाने एवं होली पर्व से पहले सड़क मरम्मत के निर्देश दिए। बैठक में जन स्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग अधिशाषी अभियंता ने बताया कि महाराणा प्रताप नगर में वाटर सप्लाई सिस्टम डालने एवं जयपुर रोड, वैशाली नगर रोड और माकड़वाली रोड पर पाइप लाइन शिफ्टिंग का कार्य आरंभ करने के लिए संबंधित ठेकेदारों को कार्यादेश दिए गए हैं। टाटा पावर द्वारा किए जा रहे कार्यों पर मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने संतोष प्रकट किया। प्रशासनिक अधिकारी देविका तोमर ने बताया कि सूचना केंद्र पर ओपन एयर थियेटर का कार्य पूर्ण हो गया है। अरबन हाट की 14 दुकानों का आवंटन कर दिया गया है। इनमें से 4 दुकानदारों ने कॉन्ट्रेक्ट एग्रीमेंट भी साइन कर लिया है। केईएम में लाइट एंड साउंड शो के लिए फर्म द्वारा प्रोजेक्टर एवं साउंड सिस्टम की सप्लाई कर दी गई है। इसी प्रकार जयपुर रोड पर अजमेर के प्रवेश द्वार पर वॉल पेंटिंग का कार्य भी आरंभ कर दिया गया है। एसडीएम अवधेश मीणा ने बताया कि केईएम पर कमरे इत्यादि का पुर्ननिर्माण कार्य प्रगति पर है। अजमेर स्मार्ट सिटी के अतिरिक्त मुख्य अभियंता अविनाश शर्मा ने बताया कि 7 वंडर में से 5 की डिजाइन तैयार हो गई है। शीघ्र ही कार्य आरंभ किया जाएगा। प्रोटोकॉल अधिकारी आलोक जैन ने बताया कि अमरदीप कॉलोनी में पार्क का कार्य शुरू हो गया है। आनासागर एस्कैप चैनल का बेड बनाने का कार्य आरंभ हो गया है।

मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने किया निरीक्षण

अजमेर स्मार्ट सिटी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रकाश राजपुरोहित ने बुधवार को विभिन्न प्रोजेक्ट्स का निरीक्षण कर मौके पर ही अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। सबसे पहले नया बाजार स्थित पशु चिकित्सालय पहुंचे। उल्लेखनीय है शास्त्रीनगर में नया पशु चिकित्सालय बनकर तैयार हो गया है। पुराने भवन से सामान शिफ्ट किए जाने की प्रक्रिया आरंभ कर दी गई है। इसके बाद पटेल मैदान में बन रहे मल्टीलेवल स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स का निरीक्षण किया। सीईओ ने यहां पर बन रहे स्वीमिंग पूल के कार्य में गति बढ़ाने के निर्देश दिए। जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय में बन रहे मेडिसन ब्लॉक, पीडिएट्रिक ब्लॉक एवं पीजी गर्ल्स हॉस्टल के कार्यों को भी देखा। चिकित्सालय में बनने वाले 100 पलंगों को नया आइसोलेशन वार्ड का कार्य आरंभ करने के निर्देश दिए। इसके पश्चात आनासागर पर बनने वाले समस्त पाथ वे का निरीक्षण किया। हरिभाऊ उपाध्याय नगर में बनने वाले गांधी स्मृति उद्यान एवं प्रगतिनगर कोटड़ा में खेल मैदान को देखा। इसके पश्चात बांडी नदी के कार्यों को अवलोकन कर आस पास रहने वाले लोगों से कार्यों पर चर्चा की।लेकफ्रंट बर्ड पार्क पर चल रहे कार्यों में पेड़ लगाने की गति बढ़ाने के निर्देश दिए।

शहरवासी करेंगे तीन प्रोजेक्ट्स का नामकरण

जिला कलक्टर एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रकाश राजपुरोहित ने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट़्स में शहरवासियों की ज्यादा से ज्यादा भागीदारी निभाने के उद्देश्य से तीन प्रोजेक्ट्स के नाम तय करवाने का निर्णय लिया है। शहरवासी प्रमुख रूप से सूचना केंद्र में नवनिर्मित ओपन एयर थियेटर, पुष्कर रोड स्थित लेकफ्रंट बर्ड पार्क और अरबन हाट का नाम सुझा सकते हैं। प्रतिभागी 5 अप्रेल तक उक्त तीनों प्रोजेक्ट्स के नाम बंद लिफाफे में अजमेर स्मार्ट सिटी कार्यालय के लेखा शाखा में शाम पांच बजे तक जमा करवा सकते हैं। यदि प्रतिभागी चाहें तो ई-मेल asclajmercity@gmail.com , tlegisajmer@gmail.com पर भी प्रविष्टियां भेज सकते हैं। जिला कलक्टर की अध्यक्षता वाली कमेटी शहवासियों द्वारा सुझाए गए नामों में से उपयुक्त नाम का चयन करेगी। जिन प्रतिभागी द्वारा सुझाया गया नाम चयनीत होता है तो उन्हें एक-एक हजार रूपए का डिमांड ड्राफ्ट पुरस्कार के रूप में प्रदान किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!